Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi

Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi | Vitamin Kitne Prakar Ke Hote Hain

Spread the love
Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi
Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi

Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi: दोस्तों आज हम आपको इस post में बताने वाले है की विटामिन की ख़ोज किसने की और कब करी थी। आप बचपन से ही सुनते आ रहे है की विटामिन का खाने में होना बहुत जरुरी होता है। Vitamin एक प्रकार के chemical compound होते है। जो हमारे खाने में मौजूद होते है। यह हमारे शरीर के काम करने और रोगों से बचाव के लिए बहुत जरुरी होते है।

Vitamin की deficiency होने पर शरीर में तरह तरह के रोग लग जाते है। हम इन विटामिन को अपनी आँखो से नहीं देख सकते क्योंकि यह बहुत छोटे है। इनको केवल lab में परिक्षण करके ही पता लगाया जा सकता है। लेकिन ज़्यादातर vitamin फलों और सब्जियों में पाया जाता है। इसलिए रोगी को जल्दी ठीक होने के लिए फलों और हरी सब्जियों का भरपूर मात्रा में प्रयोग करने की सलाह दी जाती है।

Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi | विटामिन की ख़ोज किसने की थी और कब की थी ?

विटामिन की खोज ने पूरी दुनिया के चिकित्सा विज्ञान को एक नई दिशा दी। सबसे पहले जिस व्यक्ति ने विटामिन को ‘Vitamin’ नाम से सम्बोधित किया। उनका नाम Casimir Funk था। उन्होंने विटामिन का नामकरण 1912 में किया था। विटामिन की खोज किसी एक साल में न होकर इसकी ख़ोज के लिए बहुत सालों का research किया गया। जिसमें बहुत से physicians और epidemiologists में हिस्सा लिया।

Vitamin A की ख़ोज Elmer V. McCollum और Marguerite Davis ने 1912 से 1914 में की थी।

Vitamin B की ख़ोज Elmer V. McCollum ने 1915-1916 में की थी।

Vitamin B1 की ख़ोज Casimir Funk ने 1912 में की थी।

Vitamin B2 की ख़ोज D. T. Smith और E. G. Hendrick ने 1926 में की थी।

Vitamin B3 की ख़ोज Conrad Elvehjem ने 1937 में की थी।

Vitamin B6 की ख़ोज Paul Gyorgy ने 1934 में की थी।

Vitamin B9 की ख़ोज Lucy Wills ने 1933 में की थी।

Vitamin C की ख़ोज A. Hoist और T. Froelich ने 1912 में की थी।

Vitamin D की ख़ोज Edward Mellanby ने 1922 में की थी।

Vitamin E की ख़ोज Herbert Evans और Katherine Bishop ने 1922 में की थी।

Vitamin Kitne Prakar Ke Hote Hain | विटामिन कितने प्रकार के होते है उनके नाम बताइये

Vitamin Kitne Prakar Ke Hote Hain
Vitamin Kitne Prakar Ke Hote Hain

विटामिन मुख्य रूप से 13 प्रकार के होते है। जिनकी जरुरत शरीर को अपने कोशिकाओं के निर्माण, मरम्मत करने के साथ Energy की कमी को पूरा करने के लिए होती है। Vitamin B के अंदर सबसे ज़्यादा 8 विटामिन शामिल होते है। इसके अलावा Vitamin A, Vitamin C, Vitamin D, Vitamin E, और Vitamin K होते है।

हमें सबसे ज़्यादा नियमित रूप से केवल विटामिन C और विटामिन B लेने की आवश्यकता पड़ती है। यह दोनों विटामिन को यदि हम पानी में घोले तो यह आसानी से पानी में घुल जाते है। जबकि अन्य 4 विटामिन पानी में घुलनशील नहीं होते। यह 4 vitamin यदि हम एक बार खाने में खा लेते है तो हमारा शरीर इनको 6 – 8 महीने तक शरीर में सुरक्षित रखता है और शरीर की पूर्ति करता रहता है।

1. Vitamin A : विटामिन A का मुख्य काम हमारे शरीर का विकास करने के साथ साथ हमारे आखों की सुरक्षा करना होता है। इस विटामिन की कमी होने पर शरीर का पूरी तरह से विकास नहीं हो पाता और हमारी eye sight कमजोर हो जाती है और चश्मा लग जाता है।

2. Vitamin B1 : इस विटामिन का भी सम्बन्ध हमारी growth से है। इसके अलावा यह digestive system पर भी प्रभाव डालता है। यदि शरीर में इस विटामिन की पर्याप्त मात्रा होगी तो हमारा पाचन तंत्र सही ढंग से काम करेगा। इसकी कमी होने पर कमजोर पाचन के साथ शरीर का वज़न कम होने के लक्षण भी देखे गए है। बेरी बेरी रोग भी इसकी कमी से होता है।

3. Vitamin B2 : यह विटामिन शरीर को असमय आने वाले बुढ़ापे से बचाता है। जबकि इसकी कमी छोटी उम्र में ही बुढ़ापे के लक्षण देता है।

4. Vitamin B3 : यह विटामिन हमारी त्वचा और मानसिक स्वास्थय के लिए जिम्मेदार होता है। इसकी कमी से ख़राब त्वचा के साथ साथ फोड़े फुंसी का होना है।

5. Vitamin B5 : जिन लोगों को अक्सर पैरों में जलन समस्या होती है। वह इसी विटामिन की कमी से होता है। लकवा होने के लिए भी इसी विटामिन की कमी जिम्मेदार है।

6. Vitamin B6 : शरीर में खून की कमी से होने वाला Anemia रोग के लिए यह विटामिन जिम्मेदार है।

7. Vitamin B7 : जो लोगों बालों से जुडी हुई समस्या से परेशान रहते है। उनको इस विटामिन का सेवन करना चाहिए। जिससे उनके बालों का टूटना बंद हो जायेगा।

8. Vitamin B9 : इस vitamin की कमी से शरीर में थकान का अनुभव होने के साथ सांस फूलने की समस्या भी होती है।

9. Vitamin B12 : इस विटामिन का भी सेवन खून की कमी को दूर करता है।

10. Vitamin C : शरीर में हड्डियों की कमजोरी के साथ आसानी से सर्दी जुखाम या अन्य रोग लग जाने की समस्या इस विटामिन की कमी से होती है। इस विटामिन का नियमित सेवन हमारी immunity को मजबूत करता है। जिससे कोई भी रोग हमें आसानी से नहीं लग पाते। यह विटामिन सभी खट्टे फलों में पाया जाता है। आँवला इसका बहुत अच्छा स्त्रोत है।

11. Vitamin D : यह विटामिन हड्डियों की कमजोरी और दाँतो समस्या के लिए जिम्मेदार होता है। इसका बहुत आसान और अच्छा स्त्रोत है सुबह के समय धुप का सेवन। जिससे इस विटामिन की कमी दूर होती है।

12. Vitamin E : यह विटामिन पौरुष शक्ति के लिए जिम्मेदार होता है। इसकी कमी से बच्चे न होने की समस्या का सामना करना पड़ता है।

13. Vitamin K : जब शरीर में कोई भी चोट लग जाएं और ख़ून बहने लगे तो यह विटामिन ख़ून को रोकने में मदद करता है। जबकि इसकी कमी से ग्रसित व्यक्तियों का ख़ून आसानी से नहीं रुकता। इसकी पूर्ति के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

Final Words:

दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको हमारे द्वारा ऊपर दी गयी जानकारी Vitamin Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab Ki Thi और Vitamin Kitne Prakar Ke Hote Hain पसंद आयी होगी। आपको इस article से vitamin से जुड़े सभी सवाल दूर हुए होंगे। आप इस बारे में अपनी राय हमें कमेंट में दे सकते है।

Read more:

Cricket Ka Avishkar Kisne Kiya | Cricket Kya Hai

Fan Ka Avishkar Kisne Kiya in Hindi | पंखे का अविष्कार किसने किया

Oppo Ka Sabse Mehnga Phone Kaun Sa Hai | Oppo Ka Sabse Mehnga Phone Price

PUBG Ka Baap Kaun Hai | PUBG Ka Baap Konsa Game Hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *